Monday, March 20, 2017

बसई

साइकिल यात्रा में राजस्थान के सीकर जिले के बसई गांव आया,
यहाँ किसानों का एक धरना चल रहा है,
भारत पाक बंटवारे के समय यहाँ से मुस्लिम किसान पाकिस्तान चले गये थे,
तब से उन ज़मीनों पर आस पास बसे किसान खेती कर रहे हैं,
सरकार ने अपने कागज़ात में वर्तमान किसानों को उप कृषक लिख दिया है,
लेकिन यह किसान बैंक या सरकार से कोई ऋण नहीं प्राप्त कर पाते क्योंकि इनके नाम पर ज़मीन का पट्टा नहीं है,
यह हज़ारों किसान ज़मीन का पट्टा प्राप्त करने के लिये संघर्ष कर रहे हैं,
सरकार मानती है कि इन ज़मीनों का पट्टा किसानों को दिया जा सकता है,
लेकिन सरकार इन किसानों से 22OO करोड़ रूपया मांग रही है,
किसानों का कहना है कि हम इतना पैसा कहाँ से दें ?
सरकार एक तरफ उद्योगपतियों का लाखों करोड़ माफ कर रही है,
दूसरी तरफ पांच गांवों के हज़ारो किसानों से ज़मीन की कीमत वसूलने पर आमादा है,
मुझे किसानों ने बुलाकर अपनी सारी तकलीफ सुनाई,
जिसे आप सब के साथ साझा कर रहा हूँ,

No comments:

Post a Comment