Monday, March 20, 2017

सुखमती और महिला दिवस

गमपुर गांव की 14 साल की लड़की सुखमती के साथ पुलिस के सिपाहियों नें सामूहिक बलात्कार किया और फिर गोली मार दी,
विरोध करने पर सुखमती के संबधी भीमा को भी पुलिस ने गोली से उड़ा दिया,
बाद में सरकार ने झूठ बोला कि यह दोनो नक्सलवादी थे और मुठभेड़ में मारे गये,
गांव वालों ने दोनों के शवों का अभी तक अन्तिम संस्कार नहीं किया है,
मारे गये दोनों आदिवासियों की मातायें हाईकोर्ट गईं,
छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट ने दोनों के शव का दोबारा पोस्टमार्टम करने का आदेश दिया है,
कल 6 मार्च को सुखमती और भीमा के शव को जगदलपुर लाया जायेगा,
7 मार्च को जगदलपुर मेडिकल कालेज में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में दोनों का पोस्टमार्टम होगा,
अर्न्तराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को आदिवासी रीति से भाजपा सरकार द्वारा बलात्कार करके गोली से उड़ा दी गई आदिवासी युवती सुखमती का अन्तिम संस्कार होगा,
आदिवासियों के लिये तो जुल्म झेल रही हर पीड़ित महिला भारत माता है,
लाखों आदिवासी इस मौके पर एकत्रित होंगे,
राष्ट्रीय और छत्तीसगढ़ की मीडिया इस मौके पर वहाँ पहुंच रही है,
अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के रोज़ बस्तर के आदिवासी सुखमति के साथ भाजपा के फर्जी राष्ट्रवाद का भी अन्तिम संस्कार करेंगे,

No comments:

Post a Comment