Monday, March 20, 2017

जयपुर की खड्डा बस्ती

जयपुर में एक बस्ती है जो एक गहरे गड्ढे में बसी थी,
इस बस्ती को बसाने वाले ज़्यादातर गरीब मुसलमान, दलित कारीगर, और आदिवासी चरवाहे थे,
यह बस्ती 48 साल पुरानी है,
शहर के बाहर 40 फिट गहरे गड्ढे में लोगों ने रहना शुरू किया और धीरे धीरे उसे समतल किया,
यह लोग अमीरों की सेवा के काम करते हैं,
इस बस्ती के लोग अमीरों की गाड़ियां चलाते हैं, घरों में काम करते हैं,
काफी सारे लोग लकड़ी का काम करते हैं,
इस बस्ती में ज्यादातर मुसलमान है
अब भाजपा सरकार इस बस्ती को उजाड़ना चाहती है,
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक प्रणामी इस इलाके के एमएलए हैं,
उन्होंने बस्ती वालों के मूंह पर बोला कि मैं आप लोगों का मुंह नहीं देखना चाहता इसलिये आप लोग यह बस्ती छोड़ कर चले जाओ,
इस बस्ती के बराबर में अशोक प्रणामी की साकेत कालोनी है,
अगर खड्डा बस्ती का कोई बच्चा साकेत कालोनी के पार्क में गलती से झूला झूलने चला जाता है तो उसे पुलिस को सौंप दिया जाता है,
भाजपा के दिमाग में बसी हुई सांप्रदायिकता और दिल में गरीबों से नफरत अगर देखनी है तो यहाँ आकर देखिये,
कोर्ट में भी भाजपा सरकार नें स्वीकार किया है कि इन गरीब लोगों को यहाँ से हटा कर हम इसे नीलाम करेंगे,
ताकि अमीर बिल्डर यहाँ बिजनेस काम्पलेक्स बना सके,
मतलब भाजपा गरीबों को उजाड़ कर उस ज़मीन को अमीरों को मुनाफा कमाने के लिये देगी,
इसे ही भाजपा राष्ट्रभक्ति कहती है,
खड्डा बस्ती के लोग परेशान तो हैं,
लेकिन डरे हुए बिल्कुल नहीं हैं,
हम सभी लोग उनके साथ हैं,

No comments:

Post a Comment