Monday, March 20, 2017

हनीफ पालीवाल

राजस्थान में मज़दूरों और युवाओं में काम करने वाले साथी कामरेड दुर्गा शंकर पालीवाल और मधु पालीवाल ने अपने बेटे का नाम हनीफ रखा,
सही भी है नामों पर तो मज़हबों की मिल्कियत नहीं होनी चाहिये,
हनीफ की शादी के वख्त दोस्तों को खाने पर बुलाने के लिये कार्ड देने का सोचा गया,
कार्ड वाले दुकानदार ने गणेश, ऊँ और स्वास्तिक वाले कार्ड दिखाने शुरू किये,
हनीफ ने कहा ये वाले नहीं चाहिये,
दुकानदार ने नाम पूछा,
हनीफ ने अपना नाम बताया,
दुकानदार बोला अरे पहले बताना चाहिये था ना,
दुकानदार ने चांद तारे और 786 वाले कार्ड दिखाने शुरू कर दिये,
हनीफ ने कहा मेरे पिता का नाम दुर्गा शंकर है,
दुकानदार बुरी तरह चकरा गया और बोला आपके लायक कार्ड तो बाज़ार में कहीं नहीं मिलेगा,
हनीफ ने खाली लिफाफे खरीदे और निमन्त्रण की चिट्ठी टाइप करवा कर भेज दीं,

No comments:

Post a Comment