Monday, February 13, 2012

देश के अच्छे नागरिक्

लो बन जाता हूं मैं भी एक अच्छा नागरिक,
तो , मोदी की जय हो ,
अंकित गर्ग की जय हो ,
चिदम्बरम की जय हो ,

मैं कहूँगा ,
मुसलमान गद्दार हैं ,
आदिवासी नक्सली हैं ,
दलित कामचोर और गंदे होते हैं ,
अमीर अपनी मेहनत से अमीर बने हैं ,
गरीब अपने आलस के कारण गरीब हैं ,

तो बोलो , गुजरात के विकास की जय हो,
सलवा जुडूम की जय हो ,
पाकिस्तान को मिटा दो ,
कश्मीरियों को उडा दो,
गुजरात जैसा सबक सारे देश के मुसलमानों को पढ़ा दो ,
सेक्युलरिस्ट बुद्धीजीवियों को जेलों में सड़ा दो ,

बाबा रामदेव ,आसाराम बापू की जय हो ,
त्रिशूल की जय हो ,
गोडसे की जय हो ,

ब्राम्हणों के शुद्ध् वंश की जय हो,
टाटा की जय हो , अम्बानी की जय हो
फौज की जय हो,
पुलिस की जय हो ,
सरकार की जय हो ,

औरतो को सिर चढाने वाले ,
मुसलमानों के सामने हाथ जोड़ने वाले ,
नक्सलियों के एजेंट ,
साले बुद्धिजीवियों को सबक सिखा दो,

भाजपा को वोट दो,
संघ से संस्कार सीखो ,
सच्चे भारतीय बनो ,
गो मूत्र पियो ,
राम मंदिर के निर्माण के लिये खुल कर सहयोग करो ,
मोदी को अगला प्रधान मंत्री और अन्ना को अगला राष्ट्रपति
बनाने की मुहीम से जुड़ें
और हमारी तरह
देश के अच्छे नागरिक बने !

9 comments:

  1. बहुत पैनी धार है साथी | बहुत तिलिमिलायेंगे पढ़कर |अपने बालों को नोचने लगेंगे| आपको बहुत बहुत बधाई साथी |

    ReplyDelete
  2. हम अच्छे नागरिक नहीं बनना चाहते!

    ReplyDelete
  3. अपने विचारों की अभिवयक्ति बहुत अच्छी तरह से की है ..हम सभी तिलमिलाएं हुए है ...मुझे भी नहीं बनना देश का अच्छा नागरिक

    ReplyDelete
  4. क्या करूंगा अच्छा नागरिक बनकर

    ReplyDelete
  5. कोई ऐसी जमीं और उतना ही असमां दे दो जंहा मै एक महिला और पुरुष बनकर नहीं एक इन्सान बनकर जी सकूं ।

    श्री देवी ।

    ReplyDelete
  6. ek such jo shull kitarah chubh jayega unko jo khud ko dharmik samjhte he ..... bahot hi kadva such likha aapne me to kal bhi achcha nhi tha or kal bhi nahi rahuga ......

    ReplyDelete
  7. bas ek achchha insan ban jayun yahi kafi hai mere liye

    ReplyDelete
  8. http://www.facebook.com/photo.php?fbid=2907899711907&set=a.1137946544184.16731.1693016122&type=1&theater

    ReplyDelete
  9. http://www.facebook.com/photo.php?fbid=2907899711907&set=a.1137946544184.16731.1693016122&type=1&theater

    ReplyDelete